Wednesday, 14 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( इ से औ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.

इंदमनी , इंदर , इकताबिल , इकरा , इकाकंद , इकाकंदे , इचोरा , इच्‍छापुजारी , इछर , इछोरा , इजमानी , इजराल , इदमानी , इरकल , उकतावले , उकबहरा , उगर , उगगल , उग्र , उच्‍चखेडिया , उच्‍चटनी , उव्‍वाले , उठैले , उड , उतरेजे , उत्‍तरकुमार , उत्‍तरे , उल्‍ला , उदरिया , उदरे , उदेशों , उदोबुद्धो , उधरानी , उधेरकी , उनय , उनिया , उपल , उप्‍पल , उपावेजे , उबोवजें  , उबाल , उमते , उमीन , उदरल , उल्‍हरा , उल्‍हरा , उलूचा , उबराये , उबल , उहिल , ऊंचकोटि , एघरे , एजियाल , एथैना , एरबरी , एलबो , एलानहाविये , एशानी , ऐगिरा , ऐठाना , ऐठिया , ऐड , ऐनक , ऐयार , ऐरबर , ऐरावत , ऐवाती , ओगी , ओडे , ओधी , ओनठ , ओपीसीर , ओरबल , ओर्धन , ओलडे , ओवराही , ओसादा , ओसद्धा , ओहर , ओहाना , औकल , औघड , औरतींजा , औधरी , औधी , औपारगे , औरिगीए , औरधन , औरावत , औल , औलविहार , औसरणी , औसिया।।

आपको यह आलेख पसंद आया ....