Friday, 23 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल (जं से झौ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.)

जंगी , जंड , जंडवाई जंडवाणी , जखभुबाधुन , जगड , जगघरिये , जगरान , जगरेजे , जगवार्थ , जटिय , जटियल , जठाला , जडबुत्‍ते , जडि , जतवानी , जदानी , जनकिया , जनचावला , जनरेजे , जनजे ,जन्‍नी , जप , जपने , जपोडे , जब्‍बरशही , जमकी , जमन , जमरथ , जम्‍मा , जम्‍मे , जयतुका , जयी , जयरथ , जयोरे , जरजी , जरताघर , जरबुते , जरार , जरीपुंज , जलउल , जलहांर , जलाली , जलूना , जलोह , जलोटी , जल्‍ला , जसकी , जसराई , जसवडे , जसोहुक , जसूत्रे , जहागीरदार , जांजी , जांची , जाकज , जागोधर , जाजणाधी , जाजल , जाजुरे , जाजुडे , जाजे , जाड , जाडठक्‍क , जानभुवाघुन , जानल , जारया , जारेचा , जालनापुरे , जाली , जाबा , जिंधान , जितूरी , जित्री , जिवरा , जिवारा , जिहट , जील , जीवटे , जुगलवाया , युगलवाया , जुगे , जुझाने , जंरै , जुहानजीतै , जूला , जेखाने , जेठवा , जेनभी , जेसगढी , जेसंगे , जेसहगी , जेसिंधिये , जैतुका , जैमल , जैरथ , जयरथ , जोजर , जोंजीखेल , जोंजीचंद , जोंदनी , जोका , जोखिया , जोगी , जोगिया , जोडा , जोती , जोथे , जोना , जोहर , जौहर , ज्‍वाला , झंकसिया , झंझर , झझेबाज , झगरा , झजर , झडीला , झनकसिया , जनफनबजे , झमडे , झमपालड , झरमुरा , झरमुरे , झलकमार , झलवार , झलेर ,झल्‍ला , झंगडा , झांझरे , झांझा , झांझी , झांप , झांपादार , झांम , झाधुर , झाड , झारिजे , झाला , झिगराने, झिगरे , झिउडा , झिनिगर , झिलिये , झेलिगा , झीझा , झूलवार , झोरमकोई ,झोलडे , झींकमार , झौंवामार !!

Tuesday, 20 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( चं से छौ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.)

चंड , चंडा , चंडोक , चंदन , चंदरा , चंद्र , चंद्रखोड , चकचक्‍खी , चकड , चकदे , चकने , चकरैल , चकल , चकेवाल , चक्‍कडवाल , चक्‍करे , चक्रपाणि , चगाइये , चचरे , चचा , चच्‍चा , चटकारे , चटाके , चड्ढा , चढे , चतरा , चतुरगोत्री , चतुरान , चतुर्गन , चननपोत्रे , चनीननिये , चप , चमनी , चमरिया , चमोचा , चरकौतरा , चराइये , चराइपात्रे , चराइपोत्रे , चलग , चलगा , चलवगे , चलतर , चलेजे , चलोमा , चवान , चह्वान , चहितेयावाटे , चांद , चांदमल , चांदराना , चांदीफूे , चांदीहूंक , चाडे , चानते , चानबाब , चापलू , चावे , चारकिले , चालकोटला , चारखंडी , चारखडे , चारुरी , चायली , चारा , चावडीमनी , चवले , चावले , चाहल , चाहले , चाहैतुक , चिंगी , चिरवाल , चिल्‍लानी , चींकत , चुगतिंग , चुध , चुडग , चुनाई , चुरचुट्टे , चुलडे , चूनरछोर , चूंरा , चेचचा , चांदना , चोकले , चोटमारटे , चोटलड , चोटीतप , चोतडे , चोनरे , चोपडा , चोपडे , चोपे , चोबरे , चौंकन्‍ने , चौंडे , चौकउे , चौगुला , चौधरी , चौपट्अे , चौमोहरे , चौरंगे , चौरहवा , चौहजूडा , छंगा , छंगे , छंगन , छंदकवरे , छंवखोरा , छंदना , छंदमल , छंदा , छंदीकूक , छउदा , छकचीर , छकना , छकल , छकवाल , छछारे , छछोरिया , छजुआ , छडीले , छढैया , छतवाल , छत्‍तीछिंगम , छत्रपाल , छत्री , छनंगपाल , छनना , छनोछरा , छपकी , छबीले , छब्‍बासी , छमकी , छमगीया , छरदेही , छरीजमा , छलडारह , छलौजे , छांछी , छाकल , छाजा ,छाटनी , छाटवार , छात्रिया , छारकिला , छारदान , छारदन , छावडे , छाहड , छाहल , छिकर , छिकाल , छिखाल , छिकोरिया , छिनवत , छिनहट्टे , छिनोछाई , छिपिया , छिरका , छीकडै , छूंछा , छुछीगांठ , छुछिये , छुदिये , छूदिये , छुमकिया , छुलिया , छूलिया , छूटा , छूडिये , छूडीमार , छूरीमार , छूरछता , छेनछा , छेमदा , छेकडे , छेकोडिया , छैदकवरे , छैन , छैंये , छेलचार , छैहर ,छोकरा , छोकरे , छोकल , छोरे , छोत्‍त , छौंकना , छौपतरा ,छौमुहरा !!

Monday, 19 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( गं से घौ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.)

गंग , गंसनेजे , गंगधुलिया , गंगनीचे , गंगादिल , गंगाधर , गंंगी  गंगे , गंध , गंद , गंधार , गंधारी , गन्‍धीर , गउराहा , गउल , गउहाना , गक्‍खड , गगनेजे  , गंगरीवे , गगला , गगलानी , गग्‍गे , गगगो , गजकंद , गजकंध , गजकर्ण , गजपति , गजरिया , गजरौल , गजेजई , गठडी , गठडे , गडोय , गडुद , गड्डे  , गतानी , गधेला , गयंद , गरंथ , गरपिये , गराच , गराछ , गर्गा , गलफटे  , गवाकसा , गविदं , गवीया , गवैदरे , गहमर , गहीर , गांगजी , गांधी , गांगी , गोकुल गांधी , गांडो , गादीमंद ,गावे , गामना , गावडी , गिदड , गिराछ , गिलोईगिर , गिलोत्रा , गिला , गुगलानी , गुगवानी , गुजरातो , गुजराथी , गुजराल , गुट , गुटतोड , गुट्टी , गुडघीला , गुडि , गुबरानी , गुगनारा , गुमरा , गुरजा , गुरजे , गुरजरे , गुरलानी , गुरूस्‍यानी , गुरूगुलाब , गुरूदत्‍त , गुलबाधर , गुलाटी , गुलालिये , गेरे , गेला , गोदले , गोमबर , गोकरि , गोगले , गोगिये  , गोचनी , गोचमर , गोछंजी , गोजर , गोड्हे , गोडे , गोदंता , गोवडीआ , गोदिया , गोधनी , गोध्‍या , गोधिया , गोपाली , गोपि या , गोरखगुल , गीरातला , गोरातेला , गोरीचन , गोरे , गोलंदी , गीलखपुर , गोवर कीचड , गोवले , गोवेल , गोपारो , गोह , गोहल , गोहला , गोहानी , गीड , गौतम , गौवर , गौरी , ग्‍वोलीपुरवा , ग्रोवर ,ग्‍वाछीर , घंधारी , घंटालिया , घंड , घड , घग्‍गर , घधरवाल , घधेड , घटीमोर , घटकन , घन , घनढलिया , घनुका , घमंडो , घमाना , घमोआ , घम्‍मन , घलिया , घल्‍ले , घसजीरी , घसिडान , घहना , घघरवाल , घामोढा , घरिष्‍ठ , घारी , घावर , घावरे , घासजोहरी , घारीरन , घिवार , घीक , घीया , घुटले , घुटहना , घुडचडे , घुडचढा , घुतारा , घूमर , घुलातिये , घुलानिये , घुस्‍सा , घूरिया , घूमर , घुमी , घेटी , घेई , घेला , घेयर , घीखना , घोन , घोंघे , घोरे घोसिल !! !!

Sunday, 18 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( खं से खौ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.

खंखाल , खंगवाल , खंगर , खंडकी , खंडपुर , खंडपूरिये , खंडे , खंडेरे , खखने , खख्‍खर , खखर , खचिया , खटरल , खटराल , खटवेटे , खटवटे , खड , खती , खचूरिया , खदसिया , खन्‍ना , खन्‍ने , खपरेजे , खपरैल , खभारी , खमरैल , खमरैला , खरगोश , खरमुनि , खलंडे , खलंदे , खरहल , खरहाल , खरहुल , खराल , खलवाना , खबानिए , खहवा , खांदर , खाकल , खाखूपतरा , खातिर , खातिरे , खानखाना , खामौनी , खारल , खारी , खाहरे , खिटियो , खिदरिये , खिन्‍नी , खिरकी , खीरचट्टे , खुअतिखुआ , खुक्‍कर , खुखराइन , खडखुडिया , खुदमते , खुमानी , खुमार , खुमाड , खुखारी , खुराना , खुराने , खुल्‍लर , खुरेजी , खेकभाजे , खुतरपाल , खेती , खेते , खेरवाह , खेरी , खैरिज , खैरे , खेबजी , खंबर , खैरिया , खैरी , खोंतडे , खोडे , खोदिया ,  खोरिया , खोला , खेंसला , खोसले , खोहा , खूआ , खारा !!

Thursday, 15 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( कं से कौ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.

कंकरीला , कंकरेज , कंखाना , कंचन , कंजीनीर , कंडू , केतोड , कंदफूली , कंदर , कंदराव , कंदेर , कंघरा , कंघराबाद , कंधारी , कंबूल , कंबो , कंसाना , कंसुरा , ककरानी , ककेर , ककरौला , कक्‍कइया , ककैया , कक्‍कड , कग्‍गर , कघिया , कघोन , कचना , कचरा , कचरील , कखीर , कछर , कछरा , कछवई , कजरल , कजराल , कजरिया , कजरीला , कटवार , कटहोरे , कटारिये , क‍िटयार , कटीला , कठवी , कठारे , कठाला , कठोर , कडतन , कडहेला , कतरपाल , कतरेजे , कति , कतिमार , कत्‍थल, कथर , कथरा , कथुरिया , कथोरिये , कदवाने , कनघरे , कनछन , कनडे , कनाडे , कनसाना , कन्‍सुना , कनसूरा , कनोरा , कनसूता , कपकेजे , कपतिला , कपूर , कपूरिये , कपोह , कबाडी , कबातजे , कमठेल , कमता , कमपानी  , कमराई , कमलारी , कमालपूरे , कमेरिये , कमोदी , कमौर , कमोर , कम्‍यानी , करंदी , करचल , करचली , करछीया , कलछी , करतने , करपाल , करया , करवाट , करवे , करसीजा , करहेला , कराई , कराछीक  , कराट , कराण , कराती , करातन , करारे , कराल , करेजे , करेडे , करोबी , कलगीवाला , कलकला , कलर , कलयुगी , कलसारा , कलसिया , कलातेरह , कलीरमा , कलख , कल्‍पवृक्ष , कल्‍याणी , कयागर , कविलेतिया , कसरती , कसरल , कसराल , कसी , कहरी , कहिरच , कहीरच , कांकी , कांची , कांजीनीर , काकू  , कांगडा , कांट , काटकीया , काटनामणा , काटवे , काटवा , कटीचर , काठपाल , काठी , काणातेला , कातरकि , कामरे , कामली , कामले , करतेला , करातेला , कारने , कारी , कारूख , कारूष , कालकला , कालछर , कालडे , कालसारी , कावडे , किउली , किकडिया , किच , किरि , किरी , किमरा , कुण्‍डे , कुंकणा , कुन्‍देराव , कुकर , कुकरेजा , कुकुड , कुक्‍कड , कुच , कुचकुचे , कुचल , कुंचल  , कुदल , कुदले , कुदवाने , कुदा , कुदालिया , कुदोल , कुश्‍ालिये , कुहर , कुहिरे , कृपाल , कृपालजही , कृपालमुण्‍डैन , केके , केडिया , केतरे , के‍रतिये , केवली , केसरे , केसरा , केसाडही , केहरपोत्रे , केहैंरेय , कैशनी , कैसर , कोकी , कोकीताल , कोकितल , कोक्षण्‍ा , कोचर , कोछड , काछन , कोटवाडी , कोडहाने , कोडीखाने , कोतल , कोनी , कोन्‍मरे , कोमल , कोर , कोरा , कोरताबी , कोि‍रया , कोलहपुरे , कोसन्‍दर , कोसारा ,कोहली , काेि‍हल , काैरव , कौशिल्‍ये , कौहवा , क्‍वातरे , क्‍वारजही !!

Wednesday, 14 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( इ से औ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.

इंदमनी , इंदर , इकताबिल , इकरा , इकाकंद , इकाकंदे , इचोरा , इच्‍छापुजारी , इछर , इछोरा , इजमानी , इजराल , इदमानी , इरकल , उकतावले , उकबहरा , उगर , उगगल , उग्र , उच्‍चखेडिया , उच्‍चटनी , उव्‍वाले , उठैले , उड , उतरेजे , उत्‍तरकुमार , उत्‍तरे , उल्‍ला , उदरिया , उदरे , उदेशों , उदोबुद्धो , उधरानी , उधेरकी , उनय , उनिया , उपल , उप्‍पल , उपावेजे , उबोवजें  , उबाल , उमते , उमीन , उदरल , उल्‍हरा , उल्‍हरा , उलूचा , उबराये , उबल , उहिल , ऊंचकोटि , एघरे , एजियाल , एथैना , एरबरी , एलबो , एलानहाविये , एशानी , ऐगिरा , ऐठाना , ऐठिया , ऐड , ऐनक , ऐयार , ऐरबर , ऐरावत , ऐवाती , ओगी , ओडे , ओधी , ओनठ , ओपीसीर , ओरबल , ओर्धन , ओलडे , ओवराही , ओसादा , ओसद्धा , ओहर , ओहाना , औकल , औघड , औरतींजा , औधरी , औधी , औपारगे , औरिगीए , औरधन , औरावत , औल , औलविहार , औसरणी , औसिया।।

Tuesday, 13 July 2010

खत्रियों के अल्‍ल ( अ से आ) ...खत्री हरिमोहन दास टंडन जी.

अंखोर , अंगदा , अंगिए , अंघिया ,अंचल , अंचूरिया , अंजानी , अंटालमर , अंटिया , अंठरेजा , अंतिया , अंद , अंदरानी , अंदेमानी , अंधार , अंधिया , अंब , अंबरीष , अंबाट , अंबे , अंबेकर , अंबेद , अइतार , अइनमार , अइमर , अकरा , अकरे , अकल , अकारी , अकोला , अक्‍कल , अखि , अखेजे , अगनारा , अगरी , अगिया , अग्‍गेचल , अग्निलाय , अग्‍यल , अग्रवाल , अघिरा , अघेले , अचरू , अच्‍छपरानी , अछपानेवामा , अछपोजानी , अजमाती , अजमानी , अजमाशी , अजरी , अझाली , अतई , अताई , अतद , अताद , अतरोवा , अथडेजे , अथणि , अथनी , अंथानी , अथिया , अदैन , अधमाखे , अधराने , अधरेजे , अधीरा , अनंद , अनचुरी , अनजानी , अनजाने , अनथाना , अनदाणी , अनपबो , अनवसता , अनादि , अनी , अनु , अनुस , अनूसा , अनेजा , अपत , अपन , अपनेजे , अपरिये , अपहोन , अपोत्रा , अप्‍पल , अप्‍पयं , अबयाये , अवराने , अवरानी , अववा , अवहरे , अवायवादी , अभट , अभ्‍वानिये , अमठ , अलत , अमती , अमरीया , अमीन , अम्‍गा , अयत , अरंगवरंग , अखाल , अरसिद्दी , अरिन , अरैलत , अरोमत , अदैन , अवैल , अलका , अलख , अलग , अलमंग , अलवंद , अलवचे , अलावाधी , अलिया , अलाशघे , अवई , अवट , अवत , अवधूत , अवर , अवरोह , अवलसे , अवलिस , अवसाही , अव्‍वल , असरापो , असरानी , असरो , असल , असलअदवा , असलाचिनवा , असौर , असीचे , अस्‍ताबाधी , अहूजा , अहोजा , आधमाली , आईनगर , आतू , आद , आदिआतू , आनंद , अनद , आनी , आबी , आमरे , आरोडा , आलिया , आबंद , आवशाही , आवीराय , आशरा , आश्‍रा , आसनी , आसा , आहरी ।

Saturday, 10 July 2010

खत्रियों की अल्‍लों का संकलन तो और भी मुश्किल है ... खत्री हरिमोहन दास टंडन जी

भारत का प्राचीन इतिहास आर्यों का इतिहास है और निस्‍संदेह खत्रियों के अंदर आर्य रक्‍त हैं। उत्‍तर भारत में खत्रियों के राज्‍य का विस्‍तार चारो ओर फैला हुआ था , परंतु उसका मुख्‍य केन्‍द्र पंचनद तथा गंगा यमुना का क्षेत्र था। उनके पुरोहित सारस्‍वत ब्राह्मण थे। संस्‍कृत का ‘क्ष’ प्राकृत और अपभ्रंश में ‘ख’ हो जाता है , जो करिदेश्‍वर ऋषि , वररूचि और हेमचंद्र के ग्रंथो से प्रमाणित है। पं हरिश्‍चंद्र शास्‍त्री , पं श्‍याम चरण शास्‍त्री , श्री तलवादमे , मि जे सी नेसफिल्‍ड , मि सी एच इलियट , सर जॉर्ज्‍ कैम्‍बल , मि ए एच विल्‍सन , आदि विद्वानों का मत है कि खत्री क्षत्रिय ही हैं और यह एक सैनिक जाति है।

विदेशियों के आक्रमणों को सबसे अधिक पंचनद प्रदेशों को ही झेलना पडा और इतिहास साक्षी है कि उन्‍होने वीरता पूर्वक देश की रक्षा के लिए युद्ध किया। परंतु खेद है कि वे संगठित नहीं हो सके और आपस की फूट के कारण असफल भी रहें। फलत: उस प्रदेश के निवासी समय समय पर भारत के अन्‍य प्रदेशों में प्रवास कर गए। जो पहले गंगा यमुना के किनारे किनारे कलकत्‍ते तक फैलते गए , वे पूर्विय खत्री कहलाए। और जो बाद में अपने प्रदेश से निकले , वे पछिए कहलाए। इसी प्रकार आगरेवाले , दिल्‍लीवाले , लाहौरिये आदि उपभेद बनते चले गए। राजस्‍थान और गुजरात में बसनेवाले ब्रह्मक्षत्रिय के नाम से विख्‍यात हुए। दक्षिण भारत में सहस्रार्जुन प्रसिद्ध सम्राट हुए हैं , उनके वंशज अपने को सोमवंशीय सहस्रार्जुन खत्री कहते हैं। यह ध्‍यान देने योग्‍य बातें हैं कि ब्रह्मक्षत्रिय और सहस्रार्जुन क्षत्रिय अपने विभेद का कारण प्रसिद्ध परशुराम जी को मानते हैं।

जैसे जैसे खत्री भारत के विभिन्‍न प्रदेशों में बसते गए , वैसे वैसे उन्‍होने स्‍थानीय रीति रिवाजों , व्‍यवहार और व्‍यसाय को अपनाना शुरू किया। इस तरह उनकी अनेक उपजातियां बन गयी। व्‍यवसाय , युद्धकौशल , विभिन्‍न धार्मिक संप्रदायों के प्रति आस्‍था और रहन सहन की विशेषताओं के उपजातियों के नामकरण होते गए , साथ ही सामाजिक प्रतिष्‍ठा और स्‍वाभिमान के कारण कुछ अपने को श्रेष्‍ठ समझने लगे। ऋषि परंपरा के गोत्र भी विभेद का कारण बने। खत्री जाति के उपभेदों को ‘अल्‍ल’ कहते हैं। अल्‍लों की उत्‍पत्ति का कुछ कारण ज्ञात है और कुछ अनुमानित , इसमें बहुत शोध होना आवश्‍यक है।

स्‍वाभाविक है कि भारतवर्ष के विस्‍तृत भूमि पर फैले खत्रियों का परस्‍पर परिचय और संपर्क भली भांति नहीं हो पा रहा था। यातायात के साधनों तथा पत्र पत्रिका पुसतकों की सुलभता की वृद्धि के साथ साथ अब संपर्क सूत्र बढ गया है। वर्तमान युग के सिद्धांतों के प्रभाव से उच्‍च नीच की भावना समाप्‍त हो गयी है। परस्‍पर उपजातियों में विवाह संबंध हो रहे हैं। पहले ढाई घर , चार घर , बारह घर , बावन जाति , सुखरान , सिखरा , सरीन , गुजराती , बहुजाति , ब्रह्मखत्री आदि का जो भेदभाव था , वह मिट रहा है। अत: अगले अंक में खत्रियों के अल्‍लों की सूचि कोष के क्रमानुसार ही दी जा रही है। इसमें अनेक भूल भी हो सकती है , क्‍यूंकि इस प्रकार का कोई अखिल भारतीय प्रयास नहीं होने के कारण जानकारी अभी अधूरी ही है। आशा है , भविष्‍य में खत्रियों के अल्‍लों की उत्‍पत्ति , व्‍यू‍त्‍पत्ति , विस्‍तार और विभेदों पर शोधकार्य किसी विद्वान के द्वारा किए जाने से पूरी जानकारी उपलब्‍ध हो सकेगी।

Tuesday, 6 July 2010

अरोड वंश की कुल 962 अल्‍लों का संकलन किया जा सका है( भाग - 7) ... खत्री सोहन लाल बजाज

य , र ल , व , श ,ष , ह से शुरू होनेवाले अल्‍ल ....

रसेवट , रतरे , रखीजे , रंगबुल , रहूजा , रतेजा , रसेजा , रडी , रडवोहरे , रतवानी , रपकजी ,  रखेला, रलवाईये , राजपाल , रामगदी , रावल , राजाणी , राहीजी, रारिये , रायेमानवी , राजदे , रामगढिया , राममलाणी , रूखे , रूठीजे , रेलन रेली , रूमेला , रूरेजा , रहेजे , रचपातूनी , रमली , रचासोश्‍यानी , रहानिये , रमाई , रखरेजे , रढीजे , रजवानिये , रबारे , राजानी , राजबे , रायजेबी , राजोये , रादोढा , राजवेडा , रामदेव , रायवाला , रिछपाल , रिछपटोदा , रेवडी , रोकवाये , रोडी , रोडीराम , रोसीधारने , लकडे , लगांनी , लखानी , लंगड , लटानी , ललते , लहीजे , लखिये , लखीजे , लडानिये , लखडी , लमल्‍ली , लाखडे , लातीपाल , लुंड , लूथडा , लल्‍ले , लुघेरे , लूम्‍बड , लूमडे , लुलेजे , लूनिये , लेखडे , लेई लोटे , लोची , लोहाणे , लोहिये , लोपाल , लोगन , लाखेडा , लवाणी , लूठेडा , वकवादे , वरपाली , वधवे , वढखाने , वढेरे , वत्‍ते , वरमानी , वजसीजे , वनोचे , वरदाऊ , वल्‍हीटीयर , वनतरेज , वझारे , वलीजे , वमरेजे , वहेड , वधरानी , वतानरेजे , वतराने , वदइये , वखावने , वलडी , वटारे , वतरेजे , वधीजे , वखेडे , ववीजे , वयानी , वलवेच , वडेरे , वातराने , वाधवा , वरोजा , वालदेव , वासन , वोगर , वेनीवखाली , वेहखाने , विरोजा , वेटा , वधेला , वैड , वाघवानी , वलेगा , विरमानी , शक्‍करसिंघे , शेगरी , शोरे , सपडे , सखरे , सबाटिया , सुघवानिये , संगीलोडी , संडोजे , सघवरे , सहबाई , सगाई , सवारेजई , सटोपा , सचदेव , सपरेचा , संगोटिये , सला , संदेशी , सठखेरे , संगी , सजेया , सडाने , सचदेवा , सती , सजा , सव्‍वानी , सदा , सतीजे , सनीजे , सबेड , संघोज , सलूजे , सहूरिये , सखीवोटी , सावरी , साखपूरिये , सीकरी , सिक्‍के , सघूरिये , सुवंगी , सूरी , सुखीजे , सूतडे , सुनता , सुगंधा , सेठी , सेतिये , सोनी , सोढी , सोभरेजे , सोसाडीन , सोढा , सतीजा , सिंगी , सिधवानी , सुदाना , हजरती , हंस , हफदमी , हडे , हंडोजे , हडप , हहोजे , हरयानी , हरणी , हरनेजे , हतिया , हरमेजे , हरली , हुंडिया , हरेजा , हदिया , हाडी , हिंदयानी , हिंडुजा , होडिय , होकडे , होडा , होजे , हुंडे।

Thursday, 1 July 2010

अरोड वंश की कुल 962 अल्‍लों का संकलन किया जा सका है( भाग - 6) ... खत्री सोहन लाल बजाज

पवर्ग से शुरू होने वाले अल्‍ल .............

पसरीचे , पवेजे , पनबाटी , पपडेजे , पंचनदे , परूथी , पजांचे , पजांजही , पंचरदे , पजंमने , परेयानी , पनेरट , परचंडा , पंजे , पडतने , पनवानी , पहजा , पयलठे , पालसिया , पाहोय , पायेहजी , पाहूजे , पातलिया , पुनतेजे , पुजारे , पुलपलेजेते , पुछी , पीडी , पेलानी , पोपले , पोपलाया , पोजे , पोपा , पोहली , पोतरे , पुणेजा , पटोदी , पमणोजा , पास्‍तोला , पाण्‍पोला , प्रियलाझी , पधीजा , फतोहे , फडके , फुटेले , फुलचढा , फोबचे , फलानी , फेरिया , फासेला , बतरे , बठले , बडेजे , बजाज , बब्‍बर , बरेज , बगाई , बदबेजा , बदानी , बाघले , बांबरी , बांगे , बुट्ढी , बेराया , बुधरेजे , बलुजे , बड्यानी , बर्मन , बडतने , बनेले , बलवानी , बलन्‍दी , बाचला , बदेराजे , बहदानी , बलाने , बबेजे , बग्‍गे , बेगानिचा , बलूचे , ब्रह्मवर , बागीचा , बायड , बबेजी , बुधेजा , बांदे , बांगपालिये , बाजूनेंगे , बिहीजे , बिल्‍ल , बागवाती , बोटी , बेहड , बोटे , बोगरे , बोहरा , बटीक , बजाई , भगतानी , भयासनिये , भहकानी , भरमेजे , भडेजे , भवाइये , भंगरेजे , भठेजे , भट्यानी , भकरिये भमानी ,भसीजे , भमरेजे , भभवानिये , भकनेजे , भनीजे , भवेसेजह , भभंवई , भभरानी , भटनेरी , भभराने , भगेडे , भंम्‍भेले , भडनाबी , भडारिये , भाटिया , भागजई , भातेफतहेजा , भानिये , भाठे , भिराणी , भिंड , भालिये , भावने , भालने , भारवाही , भुडानी , भुड्डी , भूतने , भुलाने , भुचानी , भुटेजा , भुडिया , भुगी , भुड्डी , भूसे , भुसरी , भुट्ठे , भेदानी , भोरानिये , भोलाने , भोडे , भोरपालने , भायानी , भुसाझी , मरग , मर्गचावने , महाबंद , मनगंदे , मनीचे , मगवाने , मरकने , मलिक , महंदीरते , मगंलानी ,मदान , मच्‍छड , मक्‍कड , मनिहारा , मनह , मलूजे , मलहोत्रे , मतोके , मठरे , मझटयार , मकरानी , महगड , मगलूजा , मगमछेर , मरवाइये , मडनेजे , मगलानी , महतानी , मंजी , मनडे , मडीजे , मलर , मकानी ,मानकटाहले ,मओंपोत्रे, मानिये , माटे , माठ , मक्‍मा , मरानमगों , मिठे , मुरादाबादी , मुधीजे , मुखरे , मुझारने , मुरादे , मुहंवाल , मुजाल , मुखीजे , मुजराल , मीरांरन , मणूजा , माणकटेला , मेकमदन , मेदराह , मेंडे , मोलीवाडे , मोहरिये , मोगले , मोलरे , मोले , मोंगे , मोटे , मोरणी , मोरलिया , मुअेजा , मुंडा , मुराका , मीठाणी , मुदियान , मुराला , मुलतानी ।।

आपको यह आलेख पसंद आया ....