Wednesday, 4 November 2009

वर्षों से पूरे भारत के खत्री समाज को एकजुट करने की कोशिश में खत्री सतीशचंद्र सेठ जी

कल के आलेख में मैने लिखा कि किसी भी राष्‍ट्र , समाज , समुदाय या संस्‍था के उत्‍थान में पत्र पत्रिकाओं का विशेष महत्‍व होता है। परंतु हमारे किसी भी पत्र पत्रिका का प्रकाशन लंबे समय तक नहीं हा सका। पर नवम्‍बर 1936 में आगरा और अवध की संयुक्‍त प्रांत(वर्तमान में उत्‍तर प्रदेश) की राजधानी के खत्री समाज की एकमात्र प्रतिनिधि सभा 'श्री खत्री उपकारिणी सभा , लखनउ' ने अपने सक्रिय सदस्‍य स्‍व महाराज किशोर टंडन जी की योजना को साकार करते हुए 'ख्त्री हितैषी' मासिक का प्रकाशन आरंभ किया , जो अभी तक निरंतर जारी रहकर देश के करोडों खत्री समाज का मार्गदर्शन और सेवा कर रही है।

इसमें सर्वाधिक योगदान करनेवाले खत्री सतीश चंद्र सेठ जी ( जन्‍म 24 मई 1937 ) नि:स्‍वार्थ तौर पर वर्षों से पूरे भारत के खत्री समाज को एकजुट करने की कोशिश में लगे हुए हैं। खत्री समाज के कीर्तिस्‍तंभ और जातिभूषण श्री सेठ जी मौरावां के राजघराने के हैं। यह उनका बडप्‍पन है कि इन्‍होने स्‍वयं को जातिसेवा हेतु समर्पित कर दिया है। अब तो जातिसेवा इनके नित्‍यकर्म में ही शामिल है। उ प्र खत्री सभा के महामंत्री होकर उन्‍होने जाति का गौरव बढाया है। 'खत्री‍ हितैषी' पत्रिका जब से इनके हाथों में आयी है , उत्‍तरोत्‍तर प्रगति ही कर रही है। ईश्‍वर आपको चिरायु करें , ताकि आप भविष्‍य में दूनी ताकत से इस कार्य में अग्रसर होकर खत्री जाति का हित करते रहें। देश के विभिन्‍न भागों में खत्री समाज के गठन के साथ ही साथ समाज के समस्‍याओं को दूर करने में इनका योगदान रहा है। इन समाचारों में भी आप पढ सकते हैं।

(लेखिका .. संगीता पुरी)




5 comments:

DEEPAK BABA said...

संगीता जी
आज बहुत ही आश्चर्य हुवा की खत्री समाज पर आपने ब्लॉग शुरू किया . सफलता के लिया हार्दिक शुभेच्छा . बहुत ही ख़ुशी हुई ....
अब आपके ब्लॉग से में उम्मीद कर रहा हूँ :
अरोरा और खत्री समाज के विषय में आप जानकारी देंगी
अरोरा और खत्री का वर्गीकरण करेंगी.
खत्री अथवा अरोरा समाज ने देश समाज और कोम के लिए जो किया उन्हें लिखेंगी.
एक बार फिर आभार ......
- deepak dudeja
deepak.mystical.blogspot.com

mehta said...

hamara samaz samaz ko ase neta ki jaroorat hai jo sabhi ko aksutr me piro ske me bhi masik patrika padhna chahta hoo parantu kis pate se mangwayi jati hai pta nhi

संगीता पुरी said...

मेहता जी,
नमस्‍कार !
आपका बहुत बहुत धन्‍यवाद .. आप खत्री सतीशचंद्र सेठ जी से फोन ने 05222395705 पर बात कर लें .. मेरा रेफरेंस दे दें !!

mehta said...

jee dhanywad
aap khtri or arorwansh par kuch or jankari dene ka kasht kare mujhe intezar hai apke naye lekh ka

mehta said...

jee apka bhi fon number dene ke liye dhanyawad
mujhe asha hai ki aap khatri arorwansh par or bhi jankari uplabdh karwyengi

आपको यह आलेख पसंद आया ....